बीकानेर hellobikaner.in जिला कलक्टर नमित मेहता ने अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा द्वारा मुकाम में लगने वाले फागुन मेले में इस बार खुला अधिवेशन नहीं लगाने को कहा है। साथ ही मुकाम मेला में कोरोना गाइडलाइन  की पालना करते हुए श्रद्धालु गुरु महाराज के दर्शन करेंगे।

जिला कलक्टर नमित्त मेहता ने गुरुवार को मुकाम में महासभा कार्यालय में विभिन्न विभागों के अधिकारियों व महासभा के पदाधिकारियों की बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण ज्यादा भीड़ नहीं करनी चाहिए। यह महासभा को तय करना है। उन्होंने बताया कि महासभा द्वारा आयोजित होने वाला खुला अधिवेशन व रात्रि में होने वाला धार्मिक सत्संग जागरण भी नहीं किया जाए। हमारा उद्देश्य मेले में आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु गुरु महाराज के दर्शन कर अपने गंतव्य स्थान पर वापस लौट जाएं।

जिला कलक्टर ने पानी, बिजली और चिकित्सा के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुकाम परिसर में इन सभी की माकूल व्यवस्था की जाए। उन्होंने मेला कमेटी के पदाधिकारियों से कहा कि मेला परिसर में सजने वाले बाजार में दो दुकानों के बीच में दूरी रहे। साथ दुकानों के आगे सामान ना रखा जाए। दुकान के आगे सामान रखने पर श्रद्धालुओं को परेशानी होगी। उन्होंने सशुल्क पार्किंग व्यवस्था करने के निर्देश दिए और कहा कि  मेला परिसर में एक भी वाहन प्रवेश नहीं होना चाहिए। मेहता ने कहा कि 10 मार्च से 14 मार्च तक करीब 2 लाख श्रद्धालुओं की यहां पहुंचने की संभावना है। ऐसे में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यातायात व्यवस्था और वाहनों की पार्किंग व्यवस्था माकूल होनी चाहिए। उन्होंने मुकान पहुचने वाले सड़क मार्गों का पेचवर्क करवाने के निर्देश सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियन्ता को दिए। साथ ही उन्होंने मेला क्षेत्र में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को करने को कहा और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को मेला क्षेत्र में एम्बुलेंस मय चिकित्सा टीम के साथ रखने के निर्देश दिए।

उन्होंने नागरिक सुरक्षा विभाग व नगर पालिका नोखा को फायर ब्रिगेट तैनात रखने के निर्देश दिए। उन्होंने बीकानेर-नोखा के बीच रोडवेज बस संचालन के भी निर्देश दिए। जिला कलक्टर मुकाम क्षेत्र में विद्युत के ढीले तार कसवाने के निर्देश डिस्काॅम अधिकारियों को दिए।

इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक प्रीति चंदा ने कहा कि मुकाम मेला परिसर में 3 ड्रोन के द्वारा निगरानी रखी जाए और यातायात व्यवस्था सुचारू कराने के लिए पार्किंग की माकूल व्यवस्था होनी चाहिए। मंदिर परिसर पर दो ड्रोन तथा एक ड्रोन समराथल मंदिर पर तैनात किया जाए। साथ ही मंदिर प्रागंण में अधिक भीड़ ना हो, इसे सुनिश्चित किया जाए।
उन्होंने महासभा से सेवक दल के 2000 कार्यकर्ताओं की सूची पुलिस को देने का कहा जिससे मेले में शानदार सुचारू व्यवस्था की जा सके। जिला पुलिस अधीक्षक ने कहा कि मुकाम से समराथल 4 किलोमीटर के इस रास्ते में किसी प्रकार का वाहन को प्रवेश नहीं दिया जाएगा, वहीं मंदिर परिसर में भी किसी प्रकार का वाहन नहीं पहुंचेगा  जिससे श्रद्धालुओं को आसानी से दर्शन हो सके।

इस अवसर पर एडीएम बीकानेर ,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार , नोखा  सीओ नेम सिंह चैहान, उपखंड अधिकारी सीता शर्मा, तहसीलदार द्वारका प्रसाद शर्मा, महासभा के अध्यक्ष रामस्वरूप मांजू, उपाध्यक्ष हुकमाराम, कोषाध्यक्ष रामस्वरूप धारणिया, बनवारी लाल बिश्नोई, पूर्व सरपंच रविंद्र विश्नोई, सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। इस अवसर पर महासभा के पदाधिकारियों ने जिला कलेक्टर व जिला पुलिस अधीक्षक का साफा पहनाकर शाल ओढाकर सम्मानित किया। इससे पहले अधिकारियों ने गुरु महाराज के धोक लगाकर मंदिर परिसर का अवलोकन भी किया।