बीकानेर hellobikaner.in रोडवेज बस स्टैंड का समूचा परिसर शुक्रवार को साफ-सुथरा दिखा। किराया तालिका और समय सारिणी अपडेट थी। वहीं एक सप्ताह पहले धूल-मिट्टी से भरे वातानुकूलित प्रतीक्षालय की व्यवस्थाएं भी चाक-चौबंद दिखी। यहां बैंचों पर बैठे यात्री अपनी-अपनी बसों का इंतजार कर रहे थे। प्रतीक्षालय के शौचालय और नल भी चालू हो गए।

 

जिला कलक्टर के निर्देश पर औचक निरीक्षण पर पहुंचे अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा ने इस स्तर को अनवरत बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिला कलक्टर के निर्देशानुसार इसे ‘माॅडल’ बस स्टैंड के रूप में विकसित किया जाएगा। यहां आधारभूत सुविधाओं का विकास हो और यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो, इसके मद्देनजर जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठकों में रोडवेज के मुख्य प्रबंधक को भी शामिल किया जाएगा।

 

 

 

उन्होंने कहा कि बस स्टैंड पर पर्याप्त संख्या में डस्ट बिन रखवाए जाएं तथा यात्रियों को इनके उपयोग के लिए माॅटिवेट किया जाए। इसके लिए बस स्टैंड के प्रमुख स्थानों पर स्लोगन लिखवाने तथा साउंड सिस्टम से इसकी घोषणा करवाने के निर्देश दिए। शर्मा ने कहा कि बस स्टैंड पर कोविड प्रोटोकाॅल की पूर्ण पालना की जाए। उन्होंने यहां से प्रतिदिन जाने वाली बसों और अन्य जिलों एवं राज्यों से आने वाली बसों के बारे में भी जानकारी ली।

 

 

 

उन्होंने कहा कि बस स्टैंड के मुख्य प्रवेश द्वार तथा बसों के प्रवेश एवं निकासी के रास्तों को दुरूस्त करवाया जाए। यहां सुविधाओं के विकास के लिए भामाशाहों और दानदाताओं को प्रेरित करने के प्रयास होंगे। उन्होंने कहा कि बस स्टैंड की व्यवस्थाओं का नियमित निरीक्षण किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने पौधारोपण भी किया। इस दौरान मुख्य प्रबंधक इंदिरा गोदारा मौजूद रही। उल्लेखनीय है कि गत सप्ताह जिला कलक्टर ने रोडवेज बस स्टैंड का औचक निरीक्षण किया था। इस दौरान यहां विभिन्न अव्यवस्थाएं देख उन्होंने नाराजगी जताई तथा इनमें सुधार के लिए निर्देशित किया। साथ ही अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) को दोबारा औचक निरीक्षण के निर्देश दिए। इसकी अनुपालना में शर्मा ने बस स्टैंड की व्यवस्थाओं को देखा।

 


Like Subscribe and Share