बीकानेर में सीएचसी एवं पीचसी के 7 भवनों का लोकार्पण, मेडिकल विंग एवं वेलोड्रम का शिलान्यास

जयपुर hellobikaner.in मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना की तीसरी संभावित लहर से मुकाबले के लिए निचले स्तर तक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने में कोई कमी नहीं रख रही है। शहरों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में सीएचसी एवं पीएचसी स्तर तक मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को लगातार सुदृढ़ किया जा रहा है।

गहलोत बुधवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बीकानेर जिले में विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं के लोकार्पण तथा मेडिकल विंग एवं साइकिल वेलोड्रम के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय में 9 करोड़ 30 लाख की लागत से बनने वाले साइकिलिंग वेलोड्रम तथा पीबीएम अस्पताल में भामाशाह श्रीमती सी.एम. मूंधडा चेरिटेबल ट्रस्ट, मुंबई के सहयोग से 20 करोड़ की लागत से बनने वाली मेडिसिन विंग का शिलान्यास किया। उन्होंने पूगल तथा कालू में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों तथा खिंयेरा, बेरासर, गारबदेसर, अर्जुनसर, गुसांईसर में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में दानवीरों की कभी कोई कमी नहीं रही। अकाल और सूखे की बात हो या विपदा का अन्य कोई समय, प्रवासी राजस्थानियों ने प्रदेश के विकास में हमेशा दिल खोलकर सहयोग दिया है। गहलोत ने सी.एम. मूंधडा चेरिटेबल ट्रस्ट का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने मानव सेवा के जिस काम का बीड़ा उठाया है, उससे बीकानेर के लोगों की स्वास्थ्य सेवाओं की बड़ी जरूरत पूरी होगी। उन्होंने कहा कि साइकिलिंग वेलोड्रम का निर्माण होने के बाद यहां की खेल प्रतिभाओं को आगे आने के भरपूर अवसर मिल सकेंगे।

गहलोत ने कहा कि संकट के इस समय में इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म है और इस महामारी का मुकाबला हम सब मिलकर करें, यही हमारी भावना होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन कार्यों का आज शिलान्यास हुआ है, वे निर्धारित समय पर पूरे हों, ताकि लोगों को इनका लाभ समय पर मिल सके।

ऊर्जा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने कहा कि 16 करोड़ 70 लाख के जिन 7 स्वास्थ्य भवनों का आज लोकार्पण हुआ है, उनसे कोरोना महामारी की संभावित अगली लहर से निपटने में भी मदद मिल सकेगी।़ उन्होंने पीबीएम अस्पताल में बनने वाली मेडिसिन विंग में सहयोग करने वाले भामाशाह  केएल मूंधडा का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने बीकानेर के विकास में दानदाताओं द्वारा किए गए सहयोग की परम्परा को आगे बढ़ाया है।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना की दूसरी घातक लहर में ऑक्सीजन एवं जीवनरक्षक दवाओं की सीमित उपलब्धता के बावजूद राजस्थान ने बेहतर प्रबंधन से इस संकट का सफलतापूर्वक सामना किया। अब हम जीरो वेस्टेज के लक्ष्य के साथ टीकाकरण अभियान को पूरी गति से आगे बढ़ा रहे हैं। तीसरी लहर की तैयारियों को ध्यान में रखते हुए चिकित्सा विभाग प्रदेशभर में शिशु स्वास्थ्य सेवाओं को और मजबूत बना रहा है।

केन्द्रीय संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि बीकानेर जिले में कोरोना के बेहतर प्रबंधन एवं ऑक्सीजन मित्र के नवाचार की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सराहना की है। उन्होंने कहा कि सीएचसी एवं पीएचसी भवनों के निर्माण तथा मेडिसिन विंग के बनने पर स्वास्थ्य सेवाएं और बेहतर होंगी। साथ ही वेलोड्रम से स्थानीय खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ने के अवसर मिल सकेंगे।

बीकानेर जिले के प्रभारी शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को संबल देने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना लागू की है। विपदा की इस घड़ी में ऐसे जरूरतमंद बच्चों एवं विधवाओं को इस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए सभी जनप्रतिनिधि आगे आकर सहयोग करें।

चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि कोरोना की विषम परिस्थितियों में मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को सुदृढ़ करने के साथ ही प्रदेश में विकास कार्यों को भी निरन्तर गति दी जा रही है। आज हुए लोकार्पण एवं शिलान्यास इसका उदाहरण हैं।

उच्च शिक्षा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय से निकले साइकिलिस्टों ने देशभर में अपना नाम रोशन किया है। यहां साइकिलिंग वेलोड्रम की लंबे समय से चली आ रही मांग पूरी हुई है और जल्द ही वेलोड्रम के बनने से खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहन मिलेगा।

चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि पीबीएम अस्पताल में बनने वाली अत्याधुनिक मेडिसिन विंग से 450 बेड की क्षमता वृद्धि होगी। इसमें 50 बेड आईसीयू के तथा 50 डीलक्स कॉटेज बेड होंगे। उन्होंने बताया कि अब बीकानेर जिले में ऐसी कोई सीएचसी या पीएचसी शेष नहीं है, जिसके पास स्वयं का भवन न हो।

विधायक सिद्धि कुमारी, सुमित गोदारा, गोविन्दराम मेघवाल, बिहारीलाल विश्नोई, जगदीश चन्द्र, कृष्णा पूनिया, गिरधारीलाल महिया, मुख्य सचिव निरंजन आर्य, प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा श्री अखिल अरोरा भी वीसी से जुड़े।

शासन सचिव उच्च शिक्षा एलएन मीना ने आभार प्रकट किया। महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. वीके सिंह, जिला कलक्टर नमित मेहता, श्रीमती सीएम मूंधडा मेमोरियल ट्रस्ट मुंबई के मुख्य ट्रस्टी केएल मूंधड़ा ने भी संबोधित किया।

Like Subscribe and Share