बीकानेर hellobikaner.in श्री जैन स्नातकोत्तर महविद्यालय में सतत् चलने वाली ”व्याख्यान-माला” का वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय, कोटा के कुलपति प्रो. रतनलाल गोदारा द्वारा दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया गया। अपने व्याख्यान के विषय ”तनाव रहित जीवन शैली एवं रोजगारोन्मुखी कार्यक्रम” पर प्रकाश डालते हुए प्रो. गोदारा ने बताया कि प्रतिभा तथा कौशल वृद्धि हेतु छात्रों को अपने शब्दों, विचारों, आदतों आदि में दृढ़ संकल्प के साथ सुधार करना चाहिए।

सफ लता की सीढिय़ों पर अग्रसर होने के लिए उन्हें अपने सामाजिक वातावरण में सकारात्मक बातों व सद्साहित्य का चयन करने की क्षमता का विकास करना चाहिये। प्रो. गोदारा ने महाविद्यालय में रोजगार सृजन हेतु वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय, कोटा द्वारा संचालित विभिन्न रोजगारोन्मुखी सर्टिफिकेट व डिप्लोमा पाठ्यक्रमों पर प्रकाश डाला। महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. शिवराम सिंह झाझडिय़ा ने आगन्तुकों का सम्मान करते हुए महाविद्यालय में प्रारम्भ की गई सतत् ”व्याख्यान-माला” के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। डॉ. झाझडिय़ा ने आये हुए अतिथियों को महाविद्यालय का परिचय देते हुए बताया कि यह महाविद्यालय बीकानेर ही नही अपितु सम्पूर्ण राजस्थान में शैक्षणिक गतिविधियों की दृष्टि से एक चुनिन्दा व अग्रणी महाविद्यालय रहा है। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में इस व्याख्यान-माला के तहत देश के भिन्न-भिन्न भागों से विषय विशेषज्ञों को समय-समय पर बुलाकर छात्रों के ज्ञानार्जन में वृद्धि की जायेगी।

महाविद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष विजय कुमार कोचर व अन्य पदाधिकारी निहाल चन्द कोचर,राजेन्द्र लुणिया व अशोक कुमार सुराणा ने कुलपति को शॉल व प्रतीक चिन्ह भेंट कर उनका स्वागत किया। महाविद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष विजय कुमार कोचर ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में महाविद्यालय में छात्रों की प्रगति हेतु शैक्षणिक, खेलकूद व अन्य सहायक गतिविधियों में भाग लेने हेतु छात्रों को प्रेरित किया व आये हुए अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम के दौरान महाविद्यालय के सम्पूर्ण स्टॉफ सदस्य तथा छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।