जयपुर hellobikaner.in प्रदेश में बालिका उत्पीड़न एवं बाल यौन अपराध की घटनाओं पर अंकुश लगाने की दिशा में शिक्षा विभाग द्वारा एक नव पहल की गई है।

 

 राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के राज्य परियोजना निदेशक डॉ भंवर लाल ने बताया की बाल दुराचार की रोकथाम के लिए विशेष तौर पर निर्मित दो पोस्टर प्रदेश के सभी राजकीय विद्यालयों की मुख्य दीवारों पर लगाए जाने के संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिये गये हैं। पहला पोस्टर सुरक्षित एवं असुरक्षित स्पर्श को परिभाषित करेगा जिसके द्वारा बालिका उत्पीड़न एवं बाल यौनाचार की घटनाओं पर अंकुश लगाने में सहयोग मिलेगा। दूसरा पोस्टर विभिन्न बाल अपराध एवं उनके लिए दंडात्मक प्रावधानों पर आधारित होगा जिसमें बाल अपराधों के संबंध में कानूनी प्रावधानों की जानकारी दी जाएगी। पोस्टर में चाईल्ड हेल्पलाईन नंबर भी अंकित होंगे।

 

 

 

प्रारंभिक शिक्षा के 52 हजार 341 विद्यालयों तथा माध्यमिक शिक्षा के 15 हजार 18 विद्यालयों में ये पोस्टर्स लगाए जाएंगे तथा इसके लिए प्रत्येक विद्यालय को 1500 रूपए की राशि दी जाएगी। समस्त विद्यालयों को 15 दिन की समयसीमा में यह कार्य करवाना होगा तथा व्यय से संबंधित समस्त जानकारी समग्र शिक्षा के प्रबंध पोर्टल पर अपलोड करनी होगी।

 


Like Subscribe and Share