हनुमानगढ़ hellobikaner.in दिनांक 4 अगस्त को परिवादी विक्रम सिंह ने डाबला पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई। रिपोर्ट अनुसार विक्रम ने बताया कि मेरी बहिन भावाना की शादी अमनचैन के साथ 25.11.2015 को हुई थी। 3 अगस्त 2021 को मेरी बहन भावना को मेरे जीजा दवाई दिलाने के बहाने हनुमानगढ़ लेकर आया, फिर षडयन्त्र रचकर किसी अन्य व्यक्ति को साथ लेकर गुरूसर के पास नहर के पुल के पास ले जाकर गाड़ी नहर में गिराकर भावना को डूबोकर कत्ल कर दिया।

अमनचैन व उसके परिजनों व उसके साथी मुकेश ने मेरी बहन भावना को दान-दहेज के लिए तंग, परेशान व प्रताडित कर 3 अगस्त को नहर में डुबोकर मार दिया। पुलिस ने अभियोग संख्या २०४/२१ धारा ४९८ए, ३०४बी, ३२३, १२०बी भादस. में मामला दर्ज कर जांच के देवानन्द आरपीएस के सुपुर्द कर दी।

वारदात का खुलासा-
अपराध की गंभीरता को देखते हुए प्रफुल्ल कुमार महानिरीक्षक पुलिस बीकानेर रेंज के निर्देशन में जसाराम बोस के सुपरविजन में तीन विशेष टीम गठित की गई। अनुसंधान अधिकारी टीमों द्वारा गहन अनुसंधान कर प्रकरण की वास्तविकता का मालूमात कर पाया गया कि अमनचैन को पत्नी भावना के चरित्र पर शक होने के कारण उसने अपने साथी मुकेश के साथ मिलकर उसके कत्ल की योजना बनाई। योजनानुसार अमनचैन अपनी पत्नी भावना को दवा दिलाने के बहाने अपने साथ लेकर हनुमानगढ़ की तरफ रवाना हुआ व रास्ते से अपने साथी मुकेश को साथ ले लिया।

हनुमानगढ़ आते वक्त रास्ते में गुरूसर नहर के पास योजनानुसार कार में पूर्व में रखे बड़े प्लास्टिक के बर्तन में भावना का सिर डूबोकर मारने का प्रयास किया। परन्तु उक्त प्रयास में सफल नहीं होने पर कार को नहर में उतार दिया व स्वंय अमनचैन व उसका साथी मुकेश गाड़ी को फाटक खोलकर बाहर आ गये तो पिछे-पिछे भावना ने भी बाहर निकलने का प्रयास किया तो अमनचैन व मुकेश द्वारा उसको वहीं नहर में ही दबोचकर डूबाकर हत्या कर दी।

उक्त दोनों मुल्जिमान के विरूद्ध आरोप प्रमाणित पाये जाने पर मुल्जिमा अमनचैन व मुल्जिम मुकेश को शेरेका पुलिस थाना टिब्बी जिला हनुमानगढ़ ने गिरफ्तार किया जाकर पुलिस रिमाण्ड हासिल किया गया है व प्रकरण में अन्य नामजद आरोपीगणों की अपराध में भूमिका के बारे में गहन अनुसंधान जारी है।े


Like Subscribe and Share