बीकानेर hellobikaner.in चीनी सेना द्वारा  पूर्वी लद्दाख और पन्गोंग झील के आसपास नियंत्रण रेखा के पास से अपनी सेना, टैंक और गोल बारूद को हटाने की प्रक्रिया शुरू करने पर  शहर भाजपा  कार्यकर्ताओ ने गुरुवार शाम जस्सूसर गेट क्षेत्र में पटाखे छोड़े और जश्न मनाया।

इस अवसर पर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भारतीय सेना जिन्दाबाद के नारे लगाए और पटाखे छोड़ कर अपनी खुशी का इज़हार किया। भारतीय जनता पार्टी शहर जिला अध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि अप्रैल 2020 से  पूर्वी लद्दाख़ सीमा क्षेत्र और नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन की सीमा गत 9 माह से आमने सामने थी। इससे पूर्व गलवान घाटी में भी दोनों सेनाओं में मुठभेड़ हो चुकी है।

 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दबंग विदेश नीति, चीन की निरंतर घेराबंदी, कूटनीतिक दबाव और निरंतर बातचीत के कारण यह संभव हो सका। इस 9 माह के सैनिक डिप्लॉयमेंट में भारतीय सेना ने अपना दबदबा बनाए रखा।  इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष गोकुल जोशी ने कहा कि यह मोदी जी  के नेतृत्व में नए भारत की जीत है।  जस्सूसर मंडल अध्यक्ष मुकेश ओझा ने इसे  भारतीय सेना के उच्च मनोबल की जीत बताया।  पुराना शहर मंडल अध्यक्ष कमल आचार्य ने भी इस पर प्रसन्नता व्यक्त की।

भाजपा नेता विजय उपाध्याय ने कहा कि यह  भारत की चीन के पर बहुत बड़ी कूटनीतिक जीत है, इससे न सिर्फ सेना का मनोबल बढ़ा है बल्कि देश का आत्मविश्वास भी ऊंचा उठा है।  पार्षद संजय गुप्ता ने कहा कि चीन की सेना के पीछे हटने से भारत की साख पूरी दुनिया मे बढ़ी है। युवा नेता वेद व्यास ने 21 वी सदी  की ऐतिहासिक घटना बताया। उन्होंने कहा कि मोदी ने चीन पर आर्थिक, राजनैतिक और सैनिक समेत सभी क्षेत्रों से व्यापक दबाव बनाया।

इस अवसर पर रघुनाथ सिंह, पूर्व पार्षद लक्ष्मण व्यास, चोरुलाल, अनिल हर्ष, घनश्याम लोहिया, जगदीश सोलंकी, दीपाराम नायक, तरुण स्वामी,मनोज जाजड़ा, ऋषिमोहन जोशी,विजय उपाध्याय, गोकुल जोशी,कमल आचार्य ,अनिल हर्ष,तरुण स्वामी, राजेश आचार्य, वेद व्यास, जगदीश सोलंकी,मनोज जाजड़ा,घनश्याम लोहिया, दिनेश सांखला,रामसा गहलोत, किशन सोलंकी,दीपाराम नायक,भारत भूषण भाकर, लक्ष्मी नारायण व्यास,मुकेश ओझा ,ऋषि मोहन जोशी ,चंदू ओझा इत्यादि उपस्थित रहे।