टेक्नोलॉजी डेस्क। आज दुनिया में लगभग सभी काम करने वालों के पास अपना व्यक्तिगत मोबाइल फ़ोन होता है। मोबाइल जिन्दगी का हिस्सा बनता जा रहा है। व्यापार को और आगे बढ़ाने के लिए भी मोबाइल उपयोगी साबित हो रहा है। आजकल स्मार्टफोन का जमाना है, बाजार में कई कम्पनियों के स्मार्टफोन उपलब्ध है। भारत में इनदिनों स्मार्टफोन हैकिंग और फ़ोन टैपिंग लेकर जबरदस्त बहस छिड़ी हुई है।

दावा है कि देश के टॉप जर्नलिस्ट और नेताओं पर नजर रखी जा रही है। इजराइली स्पाईवेयर पेगासस जासूसी कर रहा है। अगर देश के टॉप जर्नलिस्ट और नेताओं के साथ ऐसा हो सकता है तो आप के साथ भी ऐसा हो सकता है।अब आपको बताते हैं कि क्या आपका फोन भी हैक हो सकता है। दरअसल, कई मैलवेयर, सॉफ्टवेयर की मदद से आम व्यक्ति का फोन भी हैक किया जा सकता है।

यदि आपको लगता है कि फोन की बैटरी पहले के मुताबिक कम चल रही है। तो आपको इसके बारे में चिंता करने की जरूरत है। कई बार मैलवेयर सॉफ्टवेयर बैकग्राउंड में चलते रहते हैं। इसी वजह से बैटरी की खपत बढ़ जाती है। और फोन का परफॉर्मेंस भी ठीक नहीं रह पाता है।

कई बार ऐसा भी होता है कि जिस ऐप्स को आपने इंस्टॉल नहीं किया वो भी मोबाइल में आ जाता है। ऐसा यदि होता है तो आपको सतर्क होने की जरूरत है।

Like Subscribe and Share